सपा के पूर्व विधायक योगेंद्र पाल का लंबी बीमारी के बाद लखनऊ पीजीआइ में निधन

0

कानपुर (संदेशवाहक न्यूज़ डेस्क)। भोगनीपुर विधानसभा क्षेत्र से सपा के पूर्व विधायक योगेंद्र पाल का लंबी बीमारी के बाद 83 वर्ष की आयु में लखनऊ पीजीआइ में निधन हो गया। यह सूचना मिलते ही क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई और पुखरायां स्थित उनके घर पर समर्थकों का तांता लग गया। उनकी राजनीतिक सक्रियता का क्षेत्र जनपद का भोगनीपुर विधानसभा और अमरौध ब्लाक रहा।

अमरौधा ब्लाक प्रमुख पद से राजनीति की शुरुआत करने वाले योगेंद्र पाल सिंह जनता दल से एमएलसी रहे। इसके बाद समाजवादी पार्टी ज्वाइन करने के बाद वर्ष 2012 में भोगनीपुर विधानसभा से चुनाव लड़कर विधायक बने थे। साधारण किसान परिवार में जन्मे योगेंद्र पाल हमेशा गरीबों व मजलूमों की आवाज को बुलंद किया। एक वकील रहते हुए वह कोर्ट में गरीबों के मुकदमों की पैरवी निश्शुल्क करते थे।

बीते कई माह से वह बीमार चल रहे थे। वह पेट संबंधी, हाथ व पैर में सूजन की बीमारी से जूझ रहे थे। इधर हालत ज्यादा बिगड़ने पर बेटे नरेंद्र पाल सिंह ने पिता को पीजीआइ में भर्ती कराया था, जहां उनका उपचार चल रहा था। सोमवार की दोपहर उन्होंने अंतिम सांस ली, उनके निधन की सूचना मिलते ही क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। उनकी पहचान गरीबों के हक के लिए लड़ने वाले नेता के रूप में थी।

- Advertisement -

सपा जिलाध्यक्ष प्रमोद यादव ने बताया कि पूर्व विधायक के निधन की जानकारी हुई, इससे पार्टी को गहरी क्षति पहुंची है, वह जिले में सच्चे समाजवादी के रूप में जाने जाते थे।