शिकंजा: बेनामी संपत्तियों में निवेश करने वाले यूपी के आईएएस अफसरों की तलाश में जांच तेज

आयकर विभाग ऑपरेशन बाबू साहब के तहत यूपी में काली कमाई को बेनामी संपत्तियों में निवेश करने वाले नौकरशाहों की तलाश कर रहा है। यूपी में भी कई नौकरशाह पहले से निशाने पर हैं।

Sandesh Wahak Digital Desk: आयकर विभाग ऑपरेशन बाबू साहब के तहत यूपी में काली कमाई को बेनामी संपत्तियों में निवेश करने वाले नौकरशाहों की तलाश कर रहा है। यूपी में भी कई नौकरशाह पहले से निशाने पर हैं। इसमें खनन घोटाले में आरोपी महिला आईएएस चन्द्रकला भी हैं। इन अफसरों ने लखनऊ के कई बिल्डरों के प्रोजेक्टों में काली कमाई खपाई है। जिसके बाद आयकर ने जांच तेज की है। इसी कड़ी में आयकर विभाग ने सफायर बिल्डर के मालिक कमाल खान के दफ्तर और आवास पर छापेमारी की। जिसमें बेनामी सम्पत्तियों और टैक्स चोरी से जुड़े कई अहम दस्तावेज बरामद हुए।

सफायर बिल्डर की सुल्तानपुर रोड स्थित आवासीय योजना समेत तमाम प्रोजेक्ट के दस्तावेजों और बैंक खातों में हुए लेन-देन की जांच भी आयकर अफसरों ने की है। छापेमारी की कार्रवाई एलडीए के उस जवाब के बाद शुरू की गयी है। जिसमें सफायर बिल्डर से जुड़े प्रोजेक्टों की जानकारी आयकर विभाग को मिली है।

आईएएस से मामला जुड़ा होने के चलते आयकर अफसरों ने चुप्पी साध ली है। सफायर के सरोजिनी नायडू मार्ग समेत कई प्रोजेक्टों पर आयकर की तीन टीमें पहुंची थी। कई दस्तावेज जब्त किये हैं। कई दिनों से आयकर विभाग इस बिल्डर की जांच कर रहा है।

लखनऊ के बिल्डरों के पास अरबों की बेनामी सम्पत्तियां

आयकर विभाग ने आधा दर्जन बिल्डरों के पास करीब 500 करोड़ से अधिक की बेनामी संपत्ति की तलाश की है। इसके अलावा एलडीए से कुछ बिल्डरों से जुड़े दस्तावेज फरवरी में मांगे थे। आयकर विभाग ने सफायर संभव इंफ्रा एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड तथा सफायर डेवलपर्स लिमिटेड के बारे में तमाम जानकारी मांगी थी। कई बिल्डरों की बेनामी संपत्तियां (benami property) गोमती नगर, गोमती नगर विस्तार, हजरतगंज, डालीबाग, महानगर, निराला नगर, अलीगंज, लालबाग तथा सप्रू मार्ग पर है। आयकर विभाग की नजर बिल्डरों की इन्हीं सम्पत्तियों पर है। आयकर विभाग गोमतीनगर के सृजन विहार कालोनी की भी जांच कर रहा है। यहां कई अधिकारियों की बेनामी संपत्ति होने की आशंका है। कॉलोनी में 40 भूखंडों पर अभी कोई निर्माण नहीं है। इसमें काली कमाई खपाये जाने का अंदेशा है।

आईएएस चन्द्रकला से जुड़ रहे सफायर बिल्डर के तार

आयकर विभाग खनन घोटाले में आरोपी आईएएस बी. चन्द्रकला की बेनामी सम्पत्तियां भी तलाश रहा है। आयकर विभाग से जुड़े सूत्रों के मुताबिक सफायर बिल्डर के पास उक्त महिला आईएएस ने घोटाले से अर्जित काली कमाई खपाई है। आयकर की प्रारम्भिक जांच में खुलासा हो रहा है कि आईएएस चन्द्रकला ने सफायर बिल्डर की संपत्ति में पहले भी निवेश किया था। इसी कारण सफायर बिल्डर भी आयकर के निशाने पर आ गया है।

Also Read: देश भर में भ्रष्ट आईएएस पर छापे, यूपी में मेहरबानी