Assembly Elections Counting : ऐसे होती है मतगणना, जानिए काउंटिंग से जुड़ा गुणा-भाग

Assembly Elections Counting : 3 दिसंबर यानी कल का दिन भारत के राजनीतिक इतिहास का बेहद अहम दिन रहने वाला है। वहीं इस दिन चार चुनावी राज्य राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना का परिणाम आने वाले है। इसके पहले मिजोरम का भी परिणाम रविवार को ही आना था लेकिन चुनाव आयोग ने इसे एक दिन आगे बढ़ाकर सोमवार कर दिया है।

वहीं रविवार को सुबह से ही हलचल मचना शुरू हो जाएगी, पार्टियों, उम्मीदवारों, उनके समर्थकों और आम जनता समेत सभी निगाहें इसी चुनावी परिणाम पर टिकी होंगी। इसके साथ ही सभी बेसब्री से परिणामों का इंतजार कर रहे हैं। वहीं अब सबसे पहले आपको बताते हैं कि जब सूरज भी सो रहा होता है, उससे पहले ही मतगणना केंद्रों पर हलचल शुरू हो जाती है। राजनीतिक दलों के नेता और कार्यकर्ता तो रात से ही यहां मोर्चा संभाले हुए बैठे होते हैं।

लेकिन क़ानूनी कार्रवाई अहले सुबह लगभग 5 बजे से शुरू होती है। मतगणना तो 8 बजे के बाद शुरू होती है लेकिन उससे पहले सभी तैयारियों को पूरा करने के लिए मतगणना पर्यवेक्षकों और सहायकों का आना सुबह 5 बजे शुरू हो जाता है। वहीं इन्हें अपने रिपोर्टिंग ऑफिसर के सामने पेश होना होता है।

- Advertisement -

यहां उन्हें सभी दिशा-निर्देश दिए जाते हैं। इनके मन में कोई शंका हो तो उसका भी समाधान किया जाता है। इसके बाद इन्हें इनकी टेबल बता दी जाती है। यह प्रक्रिया मतगणना शुरू होने से कुछ समय पहले ही बताई जाती है, जिससे पारदर्शिता बनी रहे। यहां आपको बता दें कि इन्हें फोन समेत कोई भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट मतगणना केंद्र पर ले जाने की मनाही होती है।

Also Read : UP Politics: मायावती ने की जातीय जनगणना की मांग, बोलीं- इसकी जागरुकता से उड़ी भाजपा की नींद

Get real time updates directly on you device, subscribe now.