बच्चों में डेंगू-मलेरिया का ज्यादा खतरा, जानें बचाव के उपाय

Sandesh Wahak Digital Desk: इन दिनों डेंगू और मलेरिया के मामले हद से ज्यादा बढ़ गए हैं. एडिज नाम के मच्छर के काटने की वजह से बुखार हो जाता है. बारिश के दौरान मौसम में नमी और जगह-जगह पर पानी के जमने की वजह से डेंगू और मलेरिया का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है. बड़ों के मुकाबले बच्चों में इस बीमारी का खतरा ज्यादा बना रहता है. स्कूल, सोसायटी या फिर पार्क में जाना बच्चों का रूटीन है, इसलिए उनके डेंगू से प्रभावित होने के ज्यादा आसार बने रहते हैं.

बच्चों में डेंगू के लक्षण बड़ों की तुलना में हल्के होते हैं, इसलिए अगर उन्हें इस सीजन में जरा भी बुखार महसूस हो तो तुरंत डेंगू की जांच कराएं. इसके साथ ही सीबीसी, डेंगू सीरोलॉजी, डेंगू वायरस एंटीजन डिटेक्शन नाम के टेस्ट तुरंत कराना बेस्ट रहता है. वहीं, डेंगू के होने पर प्लेटलेट्स काउंट तेजी से गिरने लगता है. बच्चों में ये समस्या ज्यादा परेशान करती है.

बचाव के उपाय

- Advertisement -

अगर बच्चा अगर डेंगू से प्रभावित है तो उसे डॉक्टरी इलाज के अलावा घरेलू तरीकों से भी ठीक रखने की कोशिश करें.
बच्चे को नारियल पानी पीने के लिए दें, क्योंकि इसमें प्लेटलेट्स के काउंट को बढ़ाने की क्षमता होती है.
खट्टे फल या चीजें भी प्लेटलेट्स के काउंट को बरकरार रख सकती हैं, क्योंकि इनमें विटामिन सी काफी मात्रा में होता है.
दूसरी ओर बच्चा अगर बाहर जा रहा है तो उसे पूरी बाजू के कपड़े पहनाकर भेजें. खासतौर पर उन्हें पार्क में खेलने के लिए भूल से भी न भेजें.
घर की साफ-सफाई के अलावा पानी की टंकी को भी क्लीन करते रहें, क्योंकि यहां डेंगू का लार्वा सबसे ज्यादा जमता है.

 

Also Read: बारिश के पानी से नहाएंगे, तो इन बीमारियों को पाएंगे